Equal Life Foundation, Bill of Rights (Hindi)

User avatar
Anton
Posts: 351
Joined: 17 Jul 2011, 19:08

Equal Life Foundation, Bill of Rights (Hindi)

Postby Anton » 15 Jun 2014, 06:15

http://equallifehindi.wordpress.com/

दइक्वललाइफफाउंडेशन Equal Life Foundation
अधिकार पत्र Bill of Rights

दइक्वललाइफफाउंडेशनको विश्वभर की अनेकों सभ्यताओं के व्यक्तियों के एक वैश्विक समुदाय ने स्थापित किया है। दइक्वललाइफफाउंडेशनकोयहजागरूकताऔरसमझआगेलानेकेलिएबनायागयाहैकिसभीजीव, जीवनकेसभीपहलुओंमेंएकदूसरेकेबराबरहैं।इससोचकेपीछेयहविश्वासहैकिसभीजीवितप्राणियोंकेपासजीवनजीनेकानैसर्गिकअधिकारहै, यहअधिकारसभीप्राणियोंकेलिएहैऔरसभीकेपासबराबरहै, सबएकदूसरेकेबराबरहैं, इनकेबीचकिसीभीअलगावयापदक्रमकाभ्रमनहींहै, नाहीयहबराबरीकिसीभीमानवनिर्मितविश्वासोंऔरआवरणोंकेकारणकमहोतीहै। इसबराबरीकाआधारजीवनसामर्थ्यहैजोहरप्राणीकेपासबराबरहैऔरयहजीवनसामर्थ्यसभीप्राणियोंमेंनिहितहै।सभीप्राणियोंकेपासजीवनकानैसर्गिकअधिकारहैजोकिइक्वललाइफकामूलसिद्धांतमानागयाहैऔरसभीप्राणियोंकेलिए आवश्यकहै।इससिद्धांतकोयहांअधिकारपत्रघोषितकियाजाताहैजोसबकोउपलब्धहैऔरकोईभीइसकाअपवादनहींहै।इसअधिकारपत्रकाआधारउसकाव्यवहारिकउपयोगहैजिससेसभीकोव्यवहारिक तौर पर जीने योग्य जीवनकाविश्वासदिलायाजाताहैताकिजीवनबचाएरखनाऔरजीवनजीनाप्राणीकेलिएसुनिश्चितहो,

यहअधिकारसबकेपासहैऔरदूसरोंकोभीयहअधिकारदेतेहैंजिससेसभीकोएकसमानमूल्यवानजीवनजीनेकेलिएहासिलहो।
इक्वलराइट्सफाउंडेशनजीवनकेसमानअधिकारकोउसप्रत्येकव्यक्तिकासर्वप्रथममूलभूतऔरअपरिवर्तितअधिकारमानतीहैजिसेजीवनकावरदानमिलाहैऔरएतद्वाराघोषणाकरतीहैकिसमानजीवनअधिकारमेंहरजीवितआदमी, औरतऔरबच्चाशामिलहोगा।

1. समानआर्थिकअधिकारयहसुनिश्चितकरताहैकिसारीआर्थिकज़रूरतेंउपगम्यऔरउपलब्धहैंजिससेकिस्वस्थऔरसंतोषप्रदजीवनकीमूलभूतआवश्यकताएँसाकारऔरउजागरहोसकें।

2. समानस्वास्थ्यअधिकारजोसुदृढ़शारीरिकआकारबनानेकेलिएसबअत्यावश्यकज़रूरतेंउपलब्धकराए, प्राणशक्तिऔरसेहतसुनिश्चितकरवानेकेसाथबुद्धिकीस्पष्टता, भावनात्मकसामंजस्यऔरशारीरिकस्थिरताप्रदानकरे।

3. सुरक्षाऔरनिर्भयताकासमानअधिकारहरबच्चेकेलिएजिससेकिभय, असुरक्षाऔरअभिघातसेमुक्तएकजीवनसुनिश्चितहोसके, एकऐसाजीवनजहाँअभिभावकीयमार्गदर्शनकेसाथअभिव्यक्तिकास्वातन्त्र्यसंतुलितरहेऔरसृजनात्मकऔरउल्लासकेवातावरणमेंजीवनव्यतीतहोजिससेहरबच्चाअपनेसम्पूर्णसामर्थ्यविकसितकरसकेउतनाहीअनुपमजैसेजीवनकीअभिव्यक्तिस्वयंहै।

4. समानगृहअधिकारजोहरव्यक्तिऔरहरपरिवारकेलिएस्थायीघरकावातावरणसुनिश्चितकरसके, जोकिजीवनकापालनपोषणकरेऔरसहायकहो, जोऐसेसमुदायोंकेबीचउचिततरहसेनिर्मितहोजोकिआत्मसम्मानऔरपूर्णताकेजीवनकीसहायताऔरमददकरे।

5. समानशिक्षाकाअधिकारजोहरव्यक्तिकोउसकीपूरीकाबिलियतसामनेलानेअथवाउसकीउत्कृष्टताकीखोजमेंसहायकहो, जोव्यक्तिगतविकासमेंसहायकहोऔरजिसकेव्यवहारिकप्रयोगहोंजोउनकेजीवनमेंयोगदानदेंऔरउसधरतीकीस्थिरताबनाएरखनेमेंप्रासंगिकहोंजोकिहरप्रतिभागीकाजीवनबढ़ातीहै।

6. समानभूमिअधिकारजोहरव्यक्तिकोउसस्थानपरस्थितकरताहैजिसेवहअपनाघरमानतेहैं, जहांपरजीवितशरीरउसरजपरचलतेहैंजिससेउनकाजीवनपोषितहोताऔरअनवरतचलताहै, जोसुरक्षाऔरअवलंबप्रदानकरतीहै, जोकिपशुऔरवनस्पतिजगतकेएकऐसेपारस्परिकसमवेतस्वरमेंबंधीरहतीहैजोकिहरजीवाणुकीजीवनशक्तिकेसाथसामंजस्य्पूर्णहोजाताहैऔरसबजीवनकोएकसमानमानताहै।

7. स्वतंत्रसम्मलेनकासमानअधिकारजोकिएकऐसासामाजिकऔरआर्थिकपरिवेशप्रदानकरताहैजोसक्रीय, पारस्परिकऔरकिसीभीबंधनसेरहितहो, जिसमेंसेनएविचार, धारणाएँ, तकनीकऔरउत्पादकताउभरकेआसकेजोकिसबकेलिएसबसेउत्तमहोउसकाविकासकरेऔरबढ़ावादेइससमझकेसाथकिऐसेसम्मलेनसबसेपहलेआधारभूतमानवाधिकारकोसीमितनहींकरतेजोकिइसअधिकारसेप्रवाहितसारेअथवाकिसीअधिकारकोसमानजीवनअधिकारमेंमानेजातेहैं।

8. शोधकरने, तकनीकऔरअन्यवैज्ञानिकउद्यमोंऔरप्रयोगात्मकप्रत्यक्षीकरणजोकिप्राकृतिकवातावरणऔरधरती, आकाश, नदीऔरसमुद्रकेपरितंत्रकोपुनःसंतुलितकरनेऔरउपायकरनेकेलिएहैं, उनपरसमानअधिकार, अपनेग्रहकोसक्रियरूपसेसंतुलितरूपमेंदोबारालानेकेलिएजिससेउभरेगाविकासशीलऔरएकीकृतहुआएकउन्नतिशीलवैश्विकसमुदायजोकिहरप्रकारकेजीवनऔरजीवोंकेलिएसर्वश्रेष्ठहोगा, जोकिपूरीमानवताऔरसम्पूर्णजीवनकेलिएउच्चतमजीवनपरिस्थितिऔरस्तरसुनिश्चितकरेगा।

9. प्राकृतिक, आर्थिक, वैज्ञानिकऔरबौद्धिकसंसाधनोंतकपहुँचकासमानअधिकार, जिससेकिसभीकीजीवनकेबुनियादीमूलभूतआधारऔरनिरंतरतातकस्वतंत्रऔरभारमुक्तपहुँचहो, साथहीऐसेश्रेष्ठतापूर्णभविष्यकेअनुसरणकेलिएजोग्रहात्मकसमुदायकोजीवनबढ़ानेवाली तकनीक, आविष्कारोंऔरनवरचनाकेनएक्षेत्रतकस्वतंत्रऔरभारमुक्तरूपसेपहुँचायेगा।

10. शान्ति, बहुतायतऔरसम्पन्नताकासमानअधिकार, क्षति, हिंसाअथवाविध्वंसकेभयसेमुक्त, जहांजीवनकोसर्वोपरिमानाजाताहैऔरप्रत्येकमनुष्यकाहरविकल्प, हरकृत्य, हरकार्यऔरहरविचारसर्वहितकीओरनिर्देशितहोताहै, जिससेकिसभीएकरूपऔरसम्पूर्णहोकरजीवनकेवृहदएकरूपमेंसृष्टि के साथ समन्वय में रहें, जैसे जीवन स्वयं धरती पर जीवन की समस्त संरचना के साथ चिरस्थायी संतुलन के साथ रहता है।

11. स्वशासनकासमानअधिकारजोकृत्रिमशासनकेबाह्यनियंत्रणसेमुक्तजोकिसमाजऔरउसकेप्रत्येकअंगकीजीवनशक्तिकोनियंत्रितऔरविकृतकरताहै।इसप्रकारकास्वशासनएकसामाजिकऔरसंवैधानिकबड़ेसमभागकेसाथएकीकृतहोगाजोवृहदएकरूपकीअखंडताबनाएरखेगा, जिससेकिएकवास्तविकलोक्तान्त्रिकशासनकारूपसामनेआएगाजिस मेंहरव्यक्तिकोअपनेसमानजीवनअधिकारकेसमर्थनऔररक्षणमेंपूरासामाजिकऔरराजनैतिकविन्याससेसमर्थनमिलेगा, जहाँहरअधिकारकाप्रबलतासेरक्षणहोगाऔरसबजनोंकीसामाजिकअखंडताकभीबाध्यनहींहोगी।

12. आत्माकीस्वतंत्रताऔरनैतिकअखंडताकासमानअधिकार, जोहरव्यक्तिकेलिएएकऐसेजीवनकासमर्थनकरताहैजोमनोवैज्ञानिकऔरभावनात्मकछल-कपटकेनियंत्रणोंकेबंधनसेमुक्तहो, एकऐसाजीवनजोबिनाकिसीअवरोधनयाप्रतिफलकेडरकेबिनाखुदकोअभिव्यक्तकरपाए, एकऐसाजीवनजोअभावऔरप्रतिबंधोंकीसीमासेनाबँधाहो।

13. वित्तीयअखण्डताकासमानअधिकार, एकसमानताकीप्रणालीकेसाथ, जोइसमूलभूतआधारकोसाथलेकरचलताहैकिकीमतकीइकाई, मापनकीएकताकेबराबरहै, इसतरहसेयहसुनिश्चितकरताहैकिकोईव्यक्ति, संस्थाअथवासंस्थानवित्तीयऔरआर्थिकप्रणालीकोअपनेस्व-विवर्धनकेलिएचालाकीसेप्रबंधनाकरसकेजिससेजनहितकोक्षतिहो, जिससेऐसाएकीकृत, संतुलितऔरसमानतावालीप्रणालीव्यापार, उद्योग, खपतऔरमूल्यनिर्धारणकोसहयोगदेऔरबढ़ावादेजोकिजीवनकीसेवाकरनेवालीवैश्विकआर्थिकप्रणालीकेआधारहैं।

14. आध्यात्मिकसंतुलनकासमानअधिकारजिससेकिहरवोधर्मजोजीवनकीसमानताकोप्रोत्साहनदेताहैउसेसमानताकीदृष्टिसेदेखाजाएऔरअनवरतजीवनकेसाथएकरूपहोनेदियाजाए, जहाँआत्माकोप्रत्येकव्यक्तिकीसांसअंदरखींचनेऔरबाहरछोड़नेजैसीप्रक्रियासेप्रेरणालेकरसमझाजाए, औरस्वयंसम्पूर्णजीवनकोभी, औरएकअविभाजितआदर्शसभीलोगमानेंजनहितकेभीतरही, जहाँयहप्रथममूलभूतमानवाधिकार, सबकेलिएसामानजीवन, कोकिसीभीतरहसेक्षीणनहींकरे।

15. जीवनकेसभीसमानअधिकारएकहीआदर्शपरस्थापितहैंकिसबजीवितप्राणियोंमेंजीवनकेन्यूनतमस्तरकेस्व-संकल्पऔरआधारभूतविश्वासप्रदानकिएगएहैं, यहविश्वासजीवनकीमूलज़रूरतोंजैसेकिसहीपोषण, वस्त्र, आवास, ज्ञानऔरशिक्षातकपहुँच, अपनीक्षमताकोपूराकरनेकेलिएप्रशिक्षणजिससेवेअपनाऔरपरिवारकाभरणपोषणकरसकें, अपनेसामाजिक, आर्थिक, पारिवारिक, सामुदायिक, सांस्कृतिक, राष्ट्रीयऔरवैश्विकसंबंधोंसेएकीकृतहोना, जिससेकिसबइस “सबकेलिएसमानजीवन” कोसबसेमूलअधिकारप्रदर्शितकरनेकेलिएएकजुटहोकरखड़ेहों।

16. भविष्यमेंआनेवालीपीढ़ीकेलिएसमानअधिकारएकजीवितग्रहप्राप्तकरनेकाजोप्रदूषण, रोग, भूख, हिंसाऔरविध्वंससेमुक्तहोजिससेकिजीवनअनवरतचलतारहेऔरहमेशाकेलिएअनंतकालतकपनपतारहे।



Return to “Equal Life Foundation”

Who is online

Users browsing this forum: No registered users and 1 guest

cron